कि तेरा चलना ही तेरे काम आता है  

चलने से ही मिलती है हर मंजिल 

चलने से ही हर मकाम आता है I

आओं देखे इस दुनिया में कौन -कौन चलता है

“सूरज चलता है , चंदा चलता है 

गगन चलता है , धरा चलती है 

नदी चलती है धारा चलती है 

सांसे चलती है , धड़कने चलती है 

घड़ी चलती है , समय चलता है 

म्रत्यु चलती है , जीवन चलता है 

सुबह चलती है शाम चलती है 

तू भी चल की ये दुनिया तमाम चलती है I”

 

आओं देखे इस दुनिया में कौन -कौन जलता है

“दिया जलता है , सूरज जलता है

शमा जलती है , परवाना जलता है 

तू चलता जा कि तुझसे ये सारा ज़माना जलता है I”

 

आओं देखे इस दुनिया में कौन -कौन बदलता है

“दिन बदलता है,  मौसम बदलता है 

महीना बदलता है , साल बदलता है 

कितना भी हो वक्त बुरा हर हाल बदलता है 

तेरा वक्त भी बदलेगा , तू भी बदल”

साथियों नववर्ष आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ लेकर आये और आप हर वो चीज़ , हर वो मंजिल हासिल करे जो आप हासिल करना चाहते है I

खुद पर भरोसा रखिये आप इस दुनिया में unique (अद्वितीय) है , आप जैसा इस दुनिया में दूसरा कोई नहीं है I

 

Pawan Mandloi