दोस्तों जैसा की आप जानते हे की, कोई भी असाधारण आदमी (extra-ordinary man) कोई भी असाधारण काम कर सकता है, क्योकि ईश्वर ने उसे पहले से ही असाधारण शक्तियां (Power) दी है,

परन्तु दोस्तों यह site उन लोगो के लिए है जो साधारण (Common man) होते हुए भी, जीवन में असाधारण (extra-ordinary work) काम करना चाहते है, जीवन में कुछ पाना चाहते हे, जीवन में कुछ बनना चाहते है

दोस्तों मुझे पूरा यकीन है की अगर कोई Common man चाहे तो वह असाधारण (extra-ordinary) काम कर सकता है और बुलंदियों को छू सकता है

दोस्तों सपने देखना बहुत अच्छी बात है, मगर केवल सपने देखने से सपने साकार नहीं होते . दुनिया में सपने देखने वाले दो प्रकार के होते है , एक वो जो केवल सपने देखते है, कुछ करते नहीं और एक वो जो सपने देखने  के साथ ही सपनो को साकार करने में जुट जाते है! दोस्तों जैसा की आप जानते है की:

        “सपने वो पुरे नहीं होते, जो सोते हुए देखे जाते है,

        सपने वो पुरे होते है, जिनके लिए हम सोना छोड़ देते है!   

        

दोस्तों हमारे सामने दो चुनौतियां  होती है पहली जिंदगी की की जरूरतों को पूरा करने केलिए नियमित आय (Regular Income) और अपनी रोजी – रोटी का प्रबंध करना !

दूसरी चुनौति लक्ष्य (Goal) बनाना और उसे हासिल करना ! मगर क्या आप जानते है , एक सर्वे के अनुसार दुनिया में केवल ३% लोग ही अपना लक्ष्य बना पाते है! दोस्तों सफल न होने  का सबसे बड़ा कारण लक्ष्य (Goal) तय न कर पाना है!

हममें से  ज्यादातर लोग जिंदगी भर यही नहीं समझ पाते है की, हम जीवन में करना क्या चाहते है?

अगर आप जीवन में सफल होना चाहते है तो सबसे पहले  इस काबिल बनना चाहिए की  अपनी रोजी – रोटी का प्रबंध कर सके , ताकि अपनी रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा कर सकें और अपने लक्ष्य को साध सकें !

मगर दोस्तों हमसे गलती यहीं हो जाती है की, हम एक नियमित आय के चक्कर में अपना लक्ष्य ही  नहीं बनाते है और यदि बना भी ले तो उसे भूल जाते है!और जब हमें उसकी याद आती है तो हम उसे पाने के लिए शार्ट कट (short cut)  ढूंढने लगते है!

दोस्तों क्या आप जानते है कोई बच्चा लिखना सीखता है तो वह लिखना,सही लिखना और सुंदरता के साथ लिखना सिर्फ और सिर्फ प्रैक्टिस (Practice) से ही सीखता है. इसके अलावा उसका कोई शार्ट कट नहीं होता यह जानते हुए भी हम सफलता (Success) के लिए शार्ट कट के पीछे भागते रहते है तो दोस्तों,

सफलता का कोई शार्ट कट नहीं होता है” (There no short cut of success)

दोस्तों में बहुत दिनों तक सोचता रहा की मै लिखना चाहता हूँ,मगर मुझे कोई सिखाने वाला नहीं है , कोई बताने वाला गुरु नहीं है, लेकिन मेरी समझ मै तब आया जब मेने न्यूज़ पेपर में एक लेख पढ़ा! उस लेख में एक बहुत बड़े लेखक के जीवन का एक किस्सा लिखा था जो की इस प्रकार  है:

एक बार उस लेखक के सम्मान में कॉलेज में सम्मान समारोह आयोजित किया गया , समारोह खत्म होने के बाद एक लड़के  ने उनसे कहा सर में आपके जैसा लेखक कभी नहीं बन सकता , आपकी बात अलग है तब लेखक ने  कहा बिलकुल बन सकते हो , लडके ने पूछा कैसे तो लेखक ने जवाब में कहा तब तक लिखते रहो जब तक तुम्हारी लिखी हुई बात तुमको खुद अच्छी न लगे!

तो दोस्तों तब तक मेहनत करते रहो, जब तक की सफलता नहीं मिलती !

“उठो जागो और तब तक मत रुको

         जब तक लक्ष्य प्राप्ति न हो जाए”

स्वामी विवेकानंद